PFMS Public Fund Management System

By | May 10, 2020

PFMS Public Fund Management System

 

PFMS-Public Fund Management System,Public Financial Management System (PFMS) is a Central Plan Scheme monitoring system, of Ministry of Finance, Govt. of India. It is used as a platform for e-payment of Direct Benefit Transfer (DBT)/ Non DBT payments for both Aadhar based & Non- Aadhar based bank accounts through NPCI/RBI.

Our Bank is already integrated with PFMS portal and process transactions related to DBT/Non DBT payments.

We are the accredited bank for Ministry of Health & Family Welfare (MHFW) and Ministry of Legal Affairs.

 

PFMS Public Fund Management System

Bank Of Baroda 

pfms.nic.in Portel सरकार द्वारा शुरू हुआ नया पोर्टल

pfms.nic.in Portel सरकार द्वारा शुरू हुआ नया पोर्टल,pfms bank list,pfms yojana,pfms scheme details,pfms full form,pfms bank master list,pfms cbs,pfms eat module,pfms.nic.in scholarship iti

किसान योजना, जनधन योजना, उज्ज्वला योजना, के लिए शुरू किया नया पोर्टल देख सकते है लाभ

pfms.nic.in Portel
pfms.nic.in Portel

PFMS Full Form 
एफएमएस-कोर बैंकिंग सॉल्यूशन इंटरफ़ेस लाभार्थियों के ऑनलाइन सत्यापन, और एजेंसियों के बैंक खाते के विवरण की सुविधा प्रदान करता है। इलेक्ट्रॉनिक भुगतान फ़ाइलें PFMS के माध्यम से भुगतान के तीन तरीकों के लिए उत्पन्न होती हैं, अर्थात। प्रिंट भुगतान सलाह (PPA), डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट (DSC) और कॉर्पोरेट इंटरनेट बैंकिंग (CINB)। वर्तमान में, PFMS -CBS इंटरफ़ेस सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और निजी क्षेत्र के बैंकों के साथ काम कर रहा है।

PFMS Public Fund Management System

सरकार ने इस वजह से रद किये तीन करोड़ राशन कार्ड:कही आपका तो नही हुआ है
किसानो को मिलेंगे 15 हजार रु तीन किस्तों में Pm Kisan yojana
एफएमएस पोर्टल के लाभ
भारत सरकार द्वारा शुरू PFMS Portel के माध्यम से DBT से होने वाले ट्रांसफर कि जानकारी देखि जा सकती है

हाल में किसान योजना के लिए जारी किस्ते , जन धन खातो में आने वाले पैसे, व उज्ज्वला योजना के तहत मिलने वाले लाभ लाभार्थी

PFMS Public Fund Management System

PFMS Public Fund Management System

PFMS Portel के माध्यम से देख सकते है

DBT Payment
DBT यानी लोगों को सीधे उनके बैंक / डाकघर खाते के माध्यम से सब्सिडी हस्तांतरित करना प्रत्यक्ष लाभ अंतरण है।

इसका उद्देश्य सरकारी तंत्र में दक्षता, प्रभावशीलता, पारदर्शिता और जवाबदेही लाकर नागरिक को समय पर लाभ पहुंचाना है। डीबीटी सरकार के माध्यम से लाभ के इलेक्ट्रॉनिक हस्तांतरण को प्राप्त करने, भुगतान में देरी को कम करने और सबसे महत्वपूर्ण, लाभार्थियों के सटीक लक्ष्यीकरण को प्राप्त करने का इरादा है,

जिससे रिसाव और दोहराव पर अंकुश लगता है।

सरकार ने इस वजह से रद किये तीन करोड़ राशन कार्ड:कही आपका तो नही हुआ है
किसानो को मिलेंगे 15 हजार रु तीन किस्तों में Pm Kisan yojana
लाभार्थी PFMS से लाभ कैसे चेक करे
योजनाओ के तहत मिलने वाले लाभ को लाभार्थी कैसे चेक चेक कर सकते है उज्ज्वला योजना जनधन योजना आदि

PFMS Public Fund Management System

pfms.nic.in Portel सरकार द्वारा शुरू हुआ नया पोर्टलसबसे पहले लाभार्थी यहा क्लिक करे – https://pfms.nic.in
यहा जाने के बाद लाभार्थी के सामने इस तरह का पेज ऑपन होगा

लाभार्थी PFMS से लाभ कैसे चेक करे
यहा आने के बाद लाभार्थी Know Your Payments पर क्लिक करे
इसके बाद एक न्य पेज खुलेगा जो इस तरह का होगा

PFMS Portel के माध्यम से देख सकते है
PFMS Portel के माध्यम से देख सकते है
यहा लाभार्थी सबसे पहले अपने बैंक का नाम भरे
जैसे ही आप नाम लिखते है निचे बैंक कि लिस्ट दिखा देगा आपको अपने बैंक को सेलेक्ट करना है
इसके बाद आपको अपने बैंक संख्या भरने है और फिर से बैंक संख्या भरने है
इसके बाद निचे Verification में आपको इमेज में दी गए कैप्चा भरने है और साच करना है
जिसके बाद लाभार्थी कि जानकारी यहा दिखा दी जायगी

इस तरह PFMS पोर्टल के माध्यम से लाभार्थी लाभ चेक कर सकते है

सभी सरकारी योजना Click Here
किसान योजना Click Here
प्रधानमंत्री किसान योजना क्लिक करे
सभी सरकारी योजना Click Here
Education Taiyari Click Here
Sarkari Jobs Find Jo
सरकार ने इस वजह से रद किये तीन करोड़ राशन कार्ड:कही आपका तो नही हुआ है
किसानो को मिलेंगे 15 हजार रु तीन किस्तों में Pm Kisan yojana
Corona Latest Update: लाइव देखे कोरोना के कितने केस कहा
PM Modi द्वारा शुरू की गई 10 ऐसे योजनाए जिनका लाभ मिलता है हर आम आदमी को
हिमाचल प्रदेश आवास योजना सूचि ग्रामीण व शहरी आवास योजना लिस्ट हिमाचल प्रदेश

PMFS Official Website 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *